कार में गांड फाड़ सेक्स

Car me gaand faad sex:

desi porn stories

नमस्कार दोस्तों, कैसे हैं आप सभी ? मैं उम्मीद करती हूँ कि आप सभी अच्छे होंगे और चुदाई के मजे ले रहे होंगे | मेरा नाम अनामिक है और मैं गोटेगांव की रहने वाली हूँ | मेरी उम्र 24 साल है और मैंने हाल ही में अपना पोस्ट ग्रेजुएशन पूरा किया है | मैं दिखने में गोरी हूँ और मेरी हाईट 5 फुट 4 इंच है और मेरा बदन थोडा मोटा है लेकिन मैं फिर भी एक कहर हूँ | दोस्तों मैं इस चुदाई की साईट की बहुत पुरानी पाठक हूँ और मुझे यहाँ पर चुदाई की कहानियां पढ़ते हुए टाइमपास करना बहुत पसंद है | मैं रोज रात में कम से काम त्गीन चुदाई की कहानी पढ़ती हूँ | दोस्तों आज जो मैं मैं आप लोगो के समक्ष अपनी कहानी पेश करने जा रही हूँ ये मेरी पहली कहानी है और मेरे जीवन की सबसे सुन्दर घटना में से एक है | मैं उम्मीद करती हूँ कि आप सभी को मेरी कहानी बहुत अच्छी लगेगी और आप लोगो को उत्तेजना का एहसास भी होगा | इसलिए अब मैं बिना वक़्त गंवाए आप लोगो के लिए कहानी लिखना शुरू करती हूँ |

ये घटना कल की है | मेरे घर में मैं, मेरी मम्मी, पापा, बड़ा भाई, और छोटी बहन रहते हैं | मेरी मम्मी हाउसवाइफ हैं और पापा बैंक मैनेजर हैं | बड़ा भाई जॉब करता हैऔर मेरी छोटी बहन अभी कॉलेज में गई है | दोस्तों मैं शुरू से ही बहुत चुदक्कड़ रही हूँ | स्कूल के समय में मेरे दो लडको से चक्कर चलते थे और मैं उनसे चुदवाने को भी तैयार थी लेकिन जब मैंने उनके लंड देखे तो मने उनसे चुदवाने के लिए साफ मना कर दिया था क्यूंकि मुझे बड़े लंड पसंद है | जब मैं कॉलेज में गई तब मेरा एक और बॉयफ्रेंड बना जिसका नाम हार्दिक था और उसका लंड भी बहुत अच्छा था लम्बा नहीं था लेकिन मोटा था और उसी ने मेरी चूत की नाथ उतारा था | फिर जब मेरा कॉलेज खत्म हुआ तो मेरा हार्दिक से कनेक्शन खत्म हो गया था | उसके बाद मेरी ही कॉलोनी के एक लड़के से पहचान हो गई जिसका नाम निशांत है और उससे मेरी दोस्ती गहरी होती चली गई | फिर मैं उसे पसंद करने लगी और वो भी मुझे पसंद करने लगा | मैंने सोचा कि शायद ये ही है मेरे सपनो का राजकुमार तो मैंने उससे एक बार कहा कि मैं तुम्हारे साथ सेक्स करना चाहती हूँ और वो तुरंत ही तैयार हो गया | उसके बाद उसने में जमकर चुदाई किया | फिर मुझे जब भी मन करता तो मैं उससे चुदवा लिया करती | लेकिन काफी समय से मैंने चुदाई के मजे नहीं ले पा रही थी और चुदाई के लिए बहुत तड़प रही थी | वो भी मुझसे चुदाई के लिए कहता लेकिन मुझे समय नहीं मिल प् रहा था | मैं बहुत चुदासी हो रही थी | फिर एक दिन मैं अपने काम से मार्किट गई हुई थी और उस दिन बस मैं यही सोच रही थी कि काश रिषभ का फ़ोन आ जाए और किस्मत की बात देखो मैंने जैसे ही सोचा तभी रिषभ ने मुझे फोन किया और कहा कि अनामिका कहाँ हो तुम ? तो मैंने कहा कि मैं सुपर मार्किट में हूँ |

उसने कहा कि फ्री हो क्या ? तो मैंने कहा हाँ फ्री हूँ क्यूँ क्या हुआ ? तो उसने कहा कि यार चुदाई करने का मन कर रहा है | मैंने कहा कि ठीक है लेकिन कहाँ करेंगे चुदाई ? तो उसने कहा कि मेरी कार में | मैंने कहा ओके लेकिन जल्दी चोदना यार मुझे कहीं और भी जाना है | उसने कहा ठीक है तुम टेंशन मत लो मैं तुम्हे जल्दी ही छोड़ दूंगा | मैंने कहा ओके | फिर वो करीब दस मिनट के बाद के वो मुझे लेने आ गया और मैं उसकी कार में दुबक कर बैठ गई | हम दोनों शहर से थोडा दूर निकल गए | उसने मेरे कंधे में हाँथ रख दिया और और कार चलाते हुए हम दोनों बात | उसके बाद उसने एक जगह पर गाड़ी रोक दिया और वहां पर कोई भी नहीं था और न ही किसी के आने जाने की टेंशन थी | फिर उसने मुझे अपनी बांहों में ले लिया और मेरी गर्दन को चूमने लगा | कुछ देर के बाद उसने मेरे होंठ को अपने होंठ से लगा लिया और मेरे होंठ को चूसने लगा | मैं भी उसका पूरा स्थ देते हुए उसके होंठ को चूसने लगी |

वो मेरे होंठ को चूसते हुए मेरे मम्मों को भी मसल रहा था और मैं उसके होंठ को चूसते हुए उसकी जांघ पर हाँथ फेर रही थी | किस करने के बाद उसने मेरे टॉप को निकाल दिया और ब्रा के ऊपर से ही मेरी मम्मों को मसलने लगा और मैं आहा ऊंह ऊम्ह आहा ऊंह ऊम्ह आहा ऊंह ऊम्ह आहा ऊंह ऊम्ह आहा ऊंह ऊम्ह आहा ऊंह ऊम्ह करते हुए सिस्कारियां लेने लगी | फिर मैंने अपने ब्रा को उतार दिया और मेरे मम्मों को अपने मुंह में ले कर आम की तरह चूसने लगा और मैं आहा ऊंह ऊम्ह आहा ऊंह ऊम्ह आहा ऊंह ऊम्ह आहा ऊंह ऊम्ह आहा ऊंह ऊम्ह आहा ऊंह ऊम्ह करते हुए उसके सिर को सहलाने लगी |

वो मेरे मम्मों को जोर जोर से मसलते हुए चूस रहा था और निप्पलस को होंठ से दबा कर खींच कर चूस रहा था और मैं आहा ऊंह ऊम्ह आहा ऊंह ऊम्ह आहा ऊंह ऊम्ह आहा ऊंह ऊम्ह आहा ऊंह ऊम्ह आहा ऊंह ऊम्ह करते हुए सिस्कारियां भर रही थी | फिर उसने अपनी टी-शर्ट को उतार दिया और मैं उसके सीने पर हाँथ फेरने लगी | फिर उसने अपने जीन्स को उतार दिया और अंडरवियर को भी उतार कर नंगा हो गया | मैंने उसके लंड को अपने हाँथ में ले कर हिलाने लगी फिर नीचे झुक कर उसके लंड को चाटने लगी और वो आहा ऊंह ऊम्ह आहा ऊंह ऊम्ह आहा ऊंह ऊम्ह आहा ऊंह ऊम्ह आहा ऊंह ऊम्ह आहा ऊंह ऊम्ह करते हुए अपनी सीट पीछे कर के लेट गया | मैं उसके लंड को हर तरफ से जीभ फेरते हुए चाट रही थी और वो आहा ऊंह ऊम्ह आहा ऊंह ऊम्ह आहा ऊंह ऊम्ह आहा ऊंह ऊम्ह आहा ऊंह ऊम्ह आहा ऊंह ऊम्ह करते हुए सिस्कारियां ले रहा था | फिर मैंने उसके लंड कोा अपने मुंह में डाल कर चूसने लगी और वो आहा ऊंह ऊम्ह आहा ऊंह ऊम्ह आहा ऊंह ऊम्ह आहा ऊंह ऊम्ह आहा ऊंह ऊम्ह आहा ऊंह ऊम्ह करते हुए मेरे मम्मों को दबाने लगा | मैं उसके लंड को पूरा अपने गले के अन्दर तक ले कर चूस रही थी और वो आहा ऊंह ऊम्ह आहा ऊंह ऊम्ह आहा ऊंह ऊम्ह आहा ऊंह ऊम्ह आहा ऊंह ऊम्ह आहा ऊंह ऊम्ह करते हुए मजे ले रहा था |

मैंने उसके लंड को करीब 15 मिनट तक चूसा | उसके बाद मैंने भी अपनी जीन्स और पेंटी को उतार कर पीछे वाली सीट में लेट गई और उसने मेरी टांगो को फैला दिया और मेरी चूत को अपनी जीभ से रगड़ते हुए चाटने लगा और मैं आहा ऊंह ऊम्ह आहा ऊंह ऊम्ह आहा ऊंह ऊम्ह आहा ऊंह ऊम्ह आहा ऊंह ऊम्ह आहा ऊंह ऊम्ह करते हुए सिस्कारियां भरने लगी | वो मेरी चूत को चाटते हुए मेरे मम्मों को भी मसल रहा था और मैं आहा ऊंह ऊम्ह आहा ऊंह ऊम्ह आहा ऊंह ऊम्ह आहा ऊंह ऊम्ह आहा ऊंह ऊम्ह आहा ऊंह ऊम्ह करते हुए मदहोशी के आलम में डूब रही थी | अब मुझे से सहन नहीं हो रहा था तो मैंने उससे कहा कि यार बस करो अब अपना लंड मेरी चूत में डाल कर मुझे खूब चोदो |

उसने भी देर नही किआ और अपन लंड मेरी चूत में डाल दिया और शॉट मरते हुए चोदने लगा और मैं आहा ऊंह ऊम्ह आहा ऊंह ऊम्ह आहा ऊंह ऊम्ह आहा ऊंह ऊम्ह आहा ऊंह ऊम्ह आहा ऊंह ऊम्ह करते हुए मचलने लगी | कुछ देर की चुदाई के बाद उसने अपनी चुदाई की स्पीड तेज कर दिया और जोर जोर से शॉट मारते हुए चोदने लगा और मैं आहा ऊंह ऊम्ह आहा ऊंह ऊम्ह आहा ऊंह ऊम्ह आहा ऊंह ऊम्ह आहा ऊंह ऊम्ह आहा ऊंह ऊम्ह करते हुए अपनी कमर उठा उठा कर चुदाई में साथ दे रही थी | फिर उसने मुझे वहीँ घोड़ी बना दिया और मेरी चूत में पीछे से लंड डाल कर चोदने लगा और मैं आहा ऊंह ऊम्ह आहा ऊंह ऊम्ह आहा ऊंह ऊम्ह आहा ऊंह ऊम्ह आहा ऊंह ऊम्ह आहा ऊंह ऊम्ह करते हुए अपनी गांड आगे पीछे करते हुए चूत चुदाई के मजे लेने लगी | उसके बाद उसने अपने लंड को मेरी चूत से निकाल कर मेरी गांड में डाल दिया और चोदने लगा और मैं आहा ऊंह ऊम्ह आहा ऊंह ऊम्ह आहा ऊंह ऊम्ह आहा ऊंह ऊम्ह आहा ऊंह ऊम्ह आहा ऊंह ऊम्ह करते हुए सिस्कारियां लेने लगी | करीब आधे घंटे की चुदाई के बाद उसने अपने विर्य्ह को मेरी गांड में ही झड़ा दिया |

ये है मेरी कहानी | मैं उम्मीद करती हूँ कि सभी को मेरी कहानी जरुर अच्छी लगी होगी |